जीएनएम के बाद डॉक्टर कैसे बने जीएनएम नर्सिंग के बाद कौन सी नौकरी सबसे अच्छी है?

मेडिकल क्षेत्र में भविष्य सुनिश्चित करने जा रहे छात्रों के मन में एक सामान्य सा प्रश्न जरूर आता है कि डॉक्टर कैसे बने? 12वीं साइंस स्ट्रीम से पढ़ाई करने के बाद छात्र अनेक मेडिकल कोर्स को लेकर स्पष्ट नही हो पाते हैं। ऐसे ही नर्सिंग कोर्स ‘GNM’ जोकि डिप्लोमा स्तर का 3 वर्ष का कोर्स होता है।

gnm ke baad doctor kaise bane
जीएनएम के बाद डॉक्टर कैसे बने

GNM यानि जनरल नर्सिंग एंड मिडवाइफरी जिसके बाद छात्र मेडिकल करियर की शुरुआत कर सकते हैं। जीएनएम के बाद डॉक्टर बनने के विभिन्न रास्ते हैं, जिनके बारे में विस्तार से जानकारी दी गई है। हम यह भी जानेंगे कि जीएनएम के बाद सबसे बेहतरीन करियर विकल्प क्या हो सकते हैं।

जीएनएम के बाद डॉक्टर कैसे बने

डॉक्टर बनने का सीधा रास्ता होता है कि आपको 12वीं के बाद NEET एंट्रेंस एग्जाम देना होता है। इस एग्जाम को क्वालीफाई करने के बाद आप MBBS, BDS आदि कोर्स कर सकते हैं। इन कोर्सेज को पूरा करने के बाद आप अपने नाम के आगे डॉक्टर लगा सकते हैं। इन यूजी मेडिकल कोर्स को करने के बाद आप मास्टर्स कोर्स कर स्पेशलाइज्ड डॉक्टर बन सकते हैं।

जीएनएम के बाद डॉक्टर बनने का बहुत लंबा सफर होता है। जीएनएम के बाद डॉक्टर बनने का पहला रास्ता है साढ़े तीन साल के GNM कोर्स को पूरा करने के बाद आपको पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग करना होगा। जोकि डिग्री कोर्स है। इसके बाद नर्सिंग में ही मास्टर डिग्री कोर्स करना होगा। मास्टर्स करने के बाद पीएचडी कर आप डॉक्टर बन जाते हैं।

इसके अलावा दूसरा रास्ता भी है जिसे फॉलो कर जीएनएम के बाद आप डॉक्टर बनने का  सफर तय कर सकते हैं। आप Pharm D (डॉक्टर ऑफ़ फार्मेसी) कोर्स कर सकते हैं, जो 6 साल का डॉक्टरेट लेवल का कोर्स है। इस कोर्स को करने के लिए न्यूनतम योग्यता 12वीं पास होना चाहिए। Pharm D करने के बाद आपको पीएचडी करना होगा। जिसके बाद आप पूर्ण डॉक्टर बन जाते हैं।

तो अब तक हमने जाना कि जीएनएम के बाद डॉक्टर बनने का सफर बहुत ही लंबा है। यदि आप शुरुआत से ही यह निश्चित करते हैं कि आपको डॉक्टर ही बनना है तो 12वीं के बाद NEET प्रवेश परीक्षा के जरिए MBBS जैसे कोर्स में एडमिशन लें। हालांकि यहां पर कंपटीशन बहुत ज्यादा है। इसलिए आपको शुरुआत से ही एग्जाम की तैयारी में जुट जाना चाहिए।

यदि आप GNM कोर्स कर रहे हैं या कर चुके हैं और NEET एग्जाम के जरिए MBBS जैसे कोर्स में चयन नही ले पा रहे हैं तो आप पोस्ट बेसिक बीएससी नर्सिंग कोर्स कर सकते हैं। जोकि एक अंडर ग्रेजुएट कोर्स होता है। इसके बाद आप मास्टर्स कर सकते हैं। एक बेहतरीन सैलरी पैकेज के लिए आपको उच्च स्तर का कोर्स करना ही होता है। 

जीएनएम के बाद डॉक्टर बनने में लगभग 10 से 12 साल लग सकते हैं। यदि आप NEET एग्जाम से हटकर डॉक्टर बनने का सपना देख रहे हैं तो आपको इस लंबे प्रोसेस से गुजरना ही होगा। आप यहां बताए गए किसी भी रास्ते का चयन कर डॉक्टर बनने का सफर पूरा कर सकते हैं। 

हालांकि 12वीं के बाद जीएनएम भी करियर की बेहतरीन शुरुआत होता है। आइए जानते हैं जीएनएम के बाद क्या कर सकते हैं, कहां नौकरी प्राप्त कर सकते हैं? आदि

जीएनएम नर्सिंग के बाद कौन सी नौकरी सबसे अच्छी है

जीएनएम करने के बाद आपके पास करियर बनाने के अनेक अवसर हैं। आप जीएनएम के बाद मेडिकल क्षेत्र में ही उच्च स्तर के कोर्स कर सकते हैं। जिसके बाद जॉब प्रोफाइल और सैलरी पैकेज में इजाफा होता है। इसके अलावा आप GNM सर्टिफिकेट के जरिए गवर्नमेंट व प्राइवेट जॉब भी कर सकते हैं।

जीएनएम करने के बाद प्राइवेट हॉस्पिटल में आसानी से जॉब मिल जाती है, जहां पर 15 से 25 हजार रुपए की मासिक सैलरी मिल सकती है। लेकिन इसके अलावा गवर्नमेंट सेक्टर में भी जॉब के अनेक अवसर हैं जोकि जीएनएम के बाद बेहतरीन करियर विकल्प हो सकते हैं।

जीएनएम करने के बाद सरकारी नौकरी के तौर पर आप UPPSC staff nurse की वेकेंसी आने पर आवेदन कर जॉब प्राप्त कर सकते हैं। स्टाफ नर्स की वेकेंसी प्रत्येक राज्य में समय समय पर निकलती हैं। जिसमे प्राइवेट सेक्टर से बढ़िया सैलरी पैकेज मिल सकता है।

इसके अलावा सरकारी नौकरी के अंतर्गत CHO (कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर) की वेकेंसी में भी आवेदन कर सकते हैं। यदि आप जीएनएम के बाद मेडिकल फील्ड में 1 साल का एक्सपीरियंस प्राप्त किया है तो आप CHO बन सकते हैं। जिसकी नियुक्ति ग्रामीण इलाकों में होती है। इसमें शुरुआती वेतन 25 से 35 हजार रूपए होता है, जोकि एक्सपीरियंस के साथ बढ़ता जाता है।

इनके अतिरिक्त आप जीएनएम के बाद 2 वर्ष के एक्सपीरियंस प्राप्त करने के बाद AIIMS द्वारा नर्सिंग ऑफिसर की वेकेंसी के लिए अप्लाई कर सकते हैं। आपको NORCET एग्जाम देना होता है। जिसके बाद आप 65 हजार से 75 हजार रुपए की मासिक वेतन मिलता है। 

जीएनएम के बाद यहां बताए गए गवर्नमेंट जॉब के अलावा भी बहुत सी गवर्नमेंट व प्राइवेट वेकेंसी हैं। जिनमे आप बेहतरीन भविष्य बना सकते हैं। जीएनएम के बाद डॉक्टर बनने से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी के लिए कमेंट बॉक्स के जरिए अपने प्रश्न साझा करें।

क्या हम जीएनएम के बाद क्लिनिक खोल सकते हैं?

जी नहीं, आप जीएनएम के बाद अपना खुद का क्लिनिक नही खोल सकते हैं। यह एक नर्सिंग डिप्लोमा कोर्स है, जिसके बाद आप बतौर नर्स क्लिनिक, हॉस्पिटल में जॉब कर सकते हैं।

क्या मैं जीएनएम के बाद डॉक्टर बन सकता हूं?

जी हां, आप जीएनएम के बाद डॉक्टर बनने का सफर तय कर सकते हैं परंतु यह काफी लंबा है। जिसमे 10 से 12 साल का समय लग सकता है।

Leave a Comment